9/17/2019 05:19:00 am
1

  Adhai din ka Jhonpra, Ajmer अढाई दिन का झोंपड़ा, अजमेर

अढाई दिन का झोंपड़ा एक ऐतिहासिक ईमारत है, जो राजस्थान के शहर अजमेर में स्थित है। यह अजमेर में ख़्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती दरगाह से आगे कुछ ही दूरी पर स्थित है। माना जाता है कि यह ऐतिहासिक इमारत चौहान सम्राट बीसलदेव ने सन 1153 में बनवाई थी। यह मूलत: संस्कृत विद्यालय (सरस्वती कंठाभरण महाविद्यालय) थी, जिसे बाद में शाहबुद्दीन मुहम्मद ग़ोरी के आदेश पर सन 1191 में कुतुबुद्दीन ऐबक ने मस्जिद का रूप देना प्रारंभ किया जो 1199 में पूर्ण हुई। यह भी कहा जाता है कि 11वीं सदी के अंतिम दशक में मुहम्मद गोरी ने तराईन के युद्ध में पृथ्वीराज चौहान को परास्त कर दिया और उसकी फौजों ने अजमेर में प्रवेश के लिए कूच किया तो गोरी ने वहां नमाज अदा करने के लिए मस्जिद बनाने की इच्छा प्रकट की और इसके लिए 60 घंटे का समय दिया। अतः इस मस्जिद को बनवाने में सिर्फ़ ढाई दिन ही लगे, इसलिए इसे 'अढाई दिन का झोंपड़ा' कहा जाता है, किन्तु यह सत्य प्रतीत नहीं होता है। इसके बारे एक अन्य प्रचलित बात यह है कि यहाँ हर साल अढाई दिन का मेला लगता है, जिसके कारण इसे अढाई दिन का झोंपड़ा कहते हैं। इस इमारत में सात मेहराबें बनी हुई हैं। ये मेहराबें हिन्दू-मुस्लिम स्‍थापत्‍य एवं शिल्‍पकला के अनूठे नमूने हैं। यह ख़्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती दरगाह से आगे कुछ ही दूरी पर स्थित है। इस खंडहरनुमा इमारत में 7 मेहराब एवं हिन्दु-मुस्लिम कलात्मकता से युक्त 70 स्तम्भ निर्मित हैं तथा छत पर भी उत्कृष्ट कलात्मक कारीगिरी की गई है। अबु बकर ने इसका नक्शा तैयार किया था। मस्जिद का अन्दर का हिस्सा मस्जिद से अलग किसी मंदिर की तरह से लगता है।

 पुरातत्व विभाग की website से प्राप्त जानकारी-


यह वास्तव में दिल्ली के पहले सुल्तान कुतुब-उद-दीन-ऐबक द्वारा निर्मित एक मस्जिद है, जो 1199 ईस्वी में दिल्ली की कुतुब-मीनार परिसर में निर्मित क्ववाल-उल-इस्लाम मस्जिद (इस्लाम की शक्ति) के रूप में जानी जाने वाली मस्जिद के समकालीन है। बाद में 1213 ईस्वी में सुल्तान इल्तुतमिश ने इसे सुशोभित उत्कीर्ण मेहराबों से युक्त छिद्रित की गई एक पटल के साथ सुशोभित किया था, जो प्रथम बार इस देश में दिखाई देती है। हालांकि, यहाँ बड़ी संख्या में मंदिरों के वास्तुशिल्प और मूर्तियां पुरातत्व विभाग द्वारा बचाव और सुरक्षा के उद्देश्यों के लिए परिसर के बरामदे के अंदर पड़े  हैं, जो लगभग 11 वीं -12 वीं शताब्दी ईस्वी के दौरान अपने आसपास के क्षेत्र में एक हिंदू मंदिर के अस्तित्व को दर्शाता है। मंदिरों के खंडित अवशेषों से निर्मित यह मस्जिद अढाई-दिन-का-झोंपड़ा के रूप में जानी जाती है, जो संभवत: इस तथ्य से नाम दिया गया है कि यहां पर ढाई दिन तक मेला लगता था।

It is actually a Masjid built by Qutub-ud-Din-Aibak, first Sultan of Delhi, in AD 1199 contemporary to the other one built at Qutub-Minar complex of Delhi known as Quwal-ul-Islam mosque (power of Islam). Sultan Iltutmish had subsequently beautified it in AD 1213 with a screen pierced by corbelled engrailed arches which appears in this country for the first time.  However, a large number of architectural members and sculptures of temples are lying inside the verandah of the complex for safety and security purposes by the department which shows the existence of a Hindu temple in its vicinity during circa 11th-12th Century AD. This mosque, built from the dismantled remains of temples, is known as Adhai-din-ka-Jhonpra possibly from the fact that a fair used to be held here for two and a half days.


1 टिप्पणियाँ:

  1. नमस्कार sir, आपके वेबसाइट बहुत अच्छा है, बल्कि काश अगर वेबसाइट की डिजाइन आपने वर्डप्रेस पर बनवाई होती तो लोगो को सही कॉन्टेंट खोजने पर मिल जाते हैं, यदि आप अपने वेबसाइट की डिजाइन बनवाना चाहते हैं तो मुझे मैसेज करे मैं मेरे sir से बात करवा दूँगा 9152394079 मैं प्रकाश चौधरी राजस्थान के जालोर जिले से हु।

    ReplyDelete

Your comments are precious. Please give your suggestion for betterment of this blog. Thank you so much for visiting here and express feelings
आपकी टिप्पणियाँ बहुमूल्य हैं, कृपया अपने सुझाव अवश्य दें.. यहां पधारने तथा भाव प्रकट करने का बहुत बहुत आभार

स्वागतं आपका.... Welcome here.

राजस्थान के प्रामाणिक ज्ञान की एकमात्र वेब पत्रिका पर आपका स्वागत है।
"राजस्थान की कला, संस्कृति, इतिहास, भूगोल और समसामयिक दृश्यों के विविध रंगों से युक्त प्रामाणिक एवं मूलभूत जानकारियों की एकमात्र वेब पत्रिका"

"विद्यार्थियों के उपयोग हेतु राजस्थान से संबंधित प्रामाणिक तथ्यों को हिंदी माध्यम से देने के लिए किया गया यह प्रथम विनम्र प्रयास है।"

राजस्थान सम्बन्धी प्रामाणिक ज्ञान को साझा करने के इस प्रयास को आप सब पाठकों का पूरा समर्थन प्राप्त हो रहा है। कृपया आगे भी सहयोग देते रहे। आपके सुझावों का हार्दिक स्वागत है। कृपया प्रतिक्रिया अवश्य दें। धन्यवाद।

विषय सूची

Rajasthan GK (432) राजस्थान सामान्य ज्ञान (373) Current Affairs (254) GK (240) सामान्य ज्ञान (157) राजस्थान समसामयिक घटनाचक्र (129) Quiz (126) राजस्थान की योजनाएँ (106) समसामयिक घटनाचक्र (103) Rajasthan History (90) योजनाएँ (85) राजस्थान का इतिहास (52) समसामयिकी (52) General Knowledge (45) विज्ञान क्विज (40) सामान्य विज्ञान (34) Geography of Rajasthan (32) राजस्थान का भूगोल (30) Agriculture in Rajasthan (25) राजस्थान में कृषि (25) राजस्थान के मेले (24) राजस्थान की कला (22) राजस्थान के अनुसन्धान केंद्र (21) Art and Culture (20) योजना (20) राजस्थान के मंदिर (20) Daily Quiz (19) राजस्थान के संस्थान (19) राजस्थान के किले (18) Forts of Rajasthan (17) राजस्थान के तीर्थ स्थल (17) राजस्थान के प्राचीन मंदिर (17) राजस्थान के दर्शनीय स्थल (16) राजस्थानी साहित्य (16) अनुसंधान केन्द्र (15) राजस्थान के लोक नाट्य (15) राजस्थानी भाषा (13) Minerals of Rajasthan (12) राजस्थान के हस्तशिल्प (12) राजस्थान के प्रमुख पर्व एवं उत्सव (10) राजस्थान की जनजातियां (9) राजस्थान के लोक वाद्य (9) राजस्थान में कृषि योजनाएँ (9) राजस्थान में पशुधन (9) राजस्थान की चित्रकला (8) राजस्थान के कलाकार (8) राजस्थान के खिलाड़ी (8) राजस्थान के लोक नृत्य (8) forest of Rajasthan (7) राजस्थान के उद्योग (7) राजस्थान सरकार मंत्रिमंडल (7) वन एवं पर्यावरण (7) शिक्षा जगत (7) राजस्थान साहित्य अकादमी पुरस्कार (6) राजस्थान की झीलें (5) राजस्थान की नदियाँ (5) राजस्थान की स्थापत्य कला (5) राजस्थान के ऐतिहासिक स्थल (5) Livestock in Rajasthan (4) इतिहास जानने के स्रोत (4) राजस्थान की जनसंख्या (4) राजस्थान की जल धरोहरों की झलक (4) राजस्थान के संग्रहालय (4) राजस्थान में जनपद (4) राजस्थान में प्रजामण्डल आन्दोलन (4) राजस्थान रत्न पुरस्कार (4) राजस्थान सरकार के उपक्रम (4) राजस्थान साहित्य अकादमी (4) राजस्थानी साहित्य की प्रमुख रचनाएं (4) विश्व धरोहर स्थल (4) DAMS AND TANKS OF RAJASTHAN (3) Handicrafts of Rajasthan (3) राजस्थान की वन सम्पदा (3) राजस्थान की वेशभूषा (3) राजस्थान की सिंचाई परियोजनाएँ (3) राजस्थान के आभूषण (3) राजस्थान के जिले (3) राजस्थान के महोत्सव (3) राजस्थान के राज्यपाल (3) राजस्थान के रीति-रिवाज (3) राजस्थान के लोक संत (3) राजस्थान के लोक सभा सदस्य (3) राजस्थान में परम्परागत जल प्रबन्धन (3) Jewelry of Rajasthan (2) पुरस्कार (2) राजस्थान का एकीकरण (2) राजस्थान की उपयोगी घासें (2) राजस्थान की मीनाकारी (2) राजस्थान के अधात्विक खनिज (2) राजस्थान के अनुसूचित क्षेत्र (2) राजस्थान के जैन तीर्थ (2) राजस्थान के प्रमुख शिलालेख (2) राजस्थान के महल (2) राजस्थान के लोकगीत (2) राजस्थान बजट 2011-12 (2) राजस्थान मदरसा बोर्ड (2) राजस्थान में गौ-वंश (2) राजस्थान में पंचायतीराज (2) राजस्थान में प्राचीन सभ्यताएँ (2) राजस्थान में मत्स्य पालन (2) राजस्‍व मण्‍डल राजस्‍थान (2) राजस्थान का खजुराहो जगत का अंबिका मंदिर (1) राजस्थान का मीणा जनजाति आन्दोलन (1) राजस्थान की स्थिति एवं विस्तार (1) राजस्थान के कला एवं संगीत संस्थान (1) राजस्थान के चित्र संग्रहालय (1) राजस्थान के तारागढ़ किले (1) राजस्थान के धरातलीय प्रदेश (1) राजस्थान के धात्विक खनिज (1) राजस्थान के विधानसभाध्यक्ष (1) राजस्थान के संभाग (1) राजस्थान के सूर्य मंदिर (1) राजस्थान दिव्यांगजन नियम 2011 (1) राजस्थान निवेश संवर्धन ब्यूरो (1) राजस्थान बार काउंसिल (1) राजस्थान में चीनी उद्योग (1) राजस्थान में प्रथम (1) राजस्थान में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग द्वारा संरक्षित स्मारक (1) राजस्थान में यौधेय गण (1) राजस्थान में वर्षा (1) राजस्थान में सडक (1) राजस्थान राज्य गैस लिमिटेड (1) राजस्थान राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग (1) राजस्थान राज्य सड़क विकास एवं निर्माण निगम (1) राजस्थान सुनवाई का अधिकार (1) राजस्थानी की प्रमुख बोलियां (1) राजस्थानी भाषा का वार्ता साहित्य (1) राजस्थानी साहित्य का काल विभाजन- (1) राजस्‍थान राज्‍य मानव अधिकार आयोग (1) राज्य महिला आयोग (1) राष्ट्रीय अश्व अनुसंधान केन्द्र बीकानेर (1) सिन्धु घाटी की सभ्यता (1)
All rights reserve to Shriji Info Service.. Powered by Blogger.

Disclaimer:

This Blog is purely informatory in nature and does not take responsibility for errors or content posted in this blog. If you found anything inappropriate or illegal, Please tell administrator. That Post would be deleted.