1/09/2020 05:01:00 pm
0

मनरेगा एवं प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के सफल क्रियान्वयन के लिए राजस्थान को 11 राष्ट्रीय पुरस्कार-

प्रदेश के ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग को प्रदेश में महात्मा गांधी नरेगा एवं प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के सफल क्रियान्वयन के लिए 11 राष्ट्रीय स्तर के पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है व आवास पूर्ण कराने की श्रेणी में देश में राज्य को प्रथम पुरस्कार मिला है।  
केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर एवं राज्य मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने बृहस्पतिवार 19 दिसम्बर को नई दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय पुरस्कार वितरण समारोह में  राज्य, पंचायत समिति एवं ग्राम पंचायत स्तर पर उत्कृष्ट कार्य करने वाले जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों को प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।

 ये पुरस्कार निम्नांकित हैं-
  1. राजस्थान में प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के सफल क्रियान्वयन के लिए राज्य को आवास पूर्ण कराने की श्रेणी में देशभर में प्रथम स्थान प्राप्त किया। 
  2. बांसवाडा की पंचायत समिति घाटोल को आवास पूर्ण करने की श्रेणी में देशभर में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर पुरस्कृत किया गया।
  3. राज्य की ग्राम पंचायत रेटा, पंचायत समिति झूथरी, जिला डूंगरपुर की सरपंच श्रीमती सविता देवी को क्षेत्रीय स्तर पर योजना के उत्कृष्ट क्रियान्वयन के लिए पुरस्कृत किया गया ।
  4. ग्राम पंचायत अजीतपुरा पंचायत समिति भादरा जिला हनुमानगढ़ के ग्राम विकास अधिकारी श्री प्रकाश सिंह को क्षेत्रीय स्तर पर योजना के उत्कृष्ट क्रियान्वयन के लिए पुरस्कृत किया गया।
  5. राजस्थान में महात्मा गांधी नरेगा योजनान्तर्गत जिला स्तर पर जियो टेगिंग मनरेगा इनिशियेटिव के तहत कोटा जिले को देश में द्वितीय पुरस्कार प्रदान किया गया।
  6. महात्मा गांधी नरेगा योजनान्तर्गत ग्राम पंचायत स्तर पर जियो टेगिंग मनरेगा इनिशियेटिव-एमएसई के तहत डूंगरपुर जिले की सरा ग्राम पंचायत को पुरस्कृत किया गया है ।
  7. ग्राम पंचायत स्तर पर मनरेगा के सर्वोत्तम क्रियान्वयन के लिये जैसलमेर की हरनाव ग्राम पंचायत को पुरस्कार प्रदान किया गया।
  8. ग्राम पंचायत स्तर पर सर्वश्रेष्ठ आधारभूत ढांचा निर्माण व जल संग्रहण ढांचा निर्माण में वृद्धि के लिये भीलवाड़ा जिले के आसीन्द ब्लॉक की मोतीपुर ग्राम पंचायत को पुरस्कृत किया गया है । 
  9. विभाग की जोधुपर एवं उदयपुर स्थित आरसेटी (ICICI RSETI) प्रशिक्षण संस्था को देश में 1st and 2nd पुरस्कार प्रदान किया गया।
  10. पंचायती राज विभाग को प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कृत किया गया है। राजस्थान को यह पुरस्कार ‘बेस्ट ओवर ऑल परफॉरमेंस इन टर्म्स ऑफ क्वालिटी ऑफ रोड्स इंस्पेक्टेड बाय नेशनल क्वालिटी मॉनिटर्स’ श्रेणी में दिया गया है। इस पुरस्कार के लिए राजस्थान का चयन पीएमजीएसवाई के तहत प्रदेशभर में पूरे हो चुके एवं प्रगतिरत सड़क निर्माण कार्यों तथा मेंटेनेंस कार्यों की उच्च गुणवत्ता के आधार पर किया गया। 

भारत इन्टीग्रेशन मिशन ’’भीम’’ के अन्तर्गत डॉ. भीमराव अम्बेडकर जयन्ती (14 अप्रेल, 2020) तक होंगे राज्य में अनेक कार्यक्रम

  • राज्य सरकार ने परिपत्र जारी कर संविधान दिवस, 26 नवम्बर से भारत रत्न बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयन्ती 14 अप्रेल, 2020 तक प्रदेश में भारत इन्टीग्रेशन मिशन अर्थात ’’भीम’’ के अन्तर्गत अनेक कार्यक्रमाें के आयोजन किये जाने के लिये सभी अति. मुख्य सचिवों, प्रमुख शासन सचिवों, शासन सचिवों, समस्त विभागध्यक्षों एवं जिला कलक्टरों को निर्देश दिये हैं।
  • राज्यभर में डॉ. भीमराव अम्बेडकर की पुण्यतिथि व्यापक स्तर पर मनायी गई। विभागों में राजकीय पत्राचार करते समय ‘भीम‘ लोगो का उपयोग किया जाये। 
  • संविधान दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने भारत इन्टीग्रेशन मिशन ’’भीम’’ की लान्चिंग की है। 
  • मुख्य सचिव ने 14 अप्रैल, 2020 तक बाबा साहब के जीवन परिचय एवं उनके राष्ट्र के प्रति योगदान को लेकर विभिन्न अवसरों पर कार्यशाला, गोष्ठियां एवं विभिन्न कार्यक्रम आयोजित करने के  भी निर्देश दिये हैं। 
  • भारत इन्टीग्रेशन मिशन के अन्तर्गत 12 जनवरी, 2020 को  स्वामी विवेकानन्द जयन्ती (राष्ट्रीय युवा दिवस), 26 जनवरी को गणतन्त्र दिवस एवं 30 जनवरी को शहीद दिवस का आयोजन किया जायेगा। 
  • 13 फरवरी, 2020 को श्रीमती सरोजनी नायडू का जन्म दिवस (राष्ट्रीय महिला दिवस) एवं 8 मार्च 2020 को अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस का आयोजन होगा। 
  • इसी प्रकार 30 मार्च, 2020 को राजस्थान दिवस एवं 14 अप्रेल, 2020 को डॉ. भीमराव अम्बेडकर जयन्ती राज्यभर में उल्लास पूर्वक मनायी जायेगी।

साइखोम मीराबाई चानू ने कतर इंटरनेशनल कप के भारोत्‍तोलन प्रतियोगिता में 49 किलो ग्राम वर्ग का स्‍वर्ण पदक जीता -

साइखोम मीराबाई चानू ने छठे कतर इंटरनेशनल कप में 49 किलो में स्वर्ण पदक जीता है। पूर्व विश्व चैम्पियन चानू ने ओलंपिक क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में एक सौ 94 किलो का वजन उठाकर पदक जीता।

राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता चानू स्नैच में 83 किलो और क्लीन एंड जर्क में 111 किलो वजन उठाया। वह चोट के कारण 2018 में विश्व चैम्पियनशिप और एशियाई खेलों में भाग नहीं ले सकी थी।

एक हजार करोड़ रूपए की आई एम शक्ति निधि योजना

मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने बुधवार 18 दिसम्बर को महिला सशक्तीकरण को समर्पित एक हजार करोड़ रूपए की इंदिरा महिला शक्ति (आई एम शक्ति) निधि की योजनाओं का शुभारम्भ किया। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी के नाम पर महिलाओं को सशक्त बनाने की सोच के साथ राज्य सरकार ने यह पहल की है। महिला स्वयं सहायता समूहों तथा महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए इस निधि से एक करोड़ रूपए तक का ऋण मिल सकेगा। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा कि इस निधि का नाम पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी के नाम पर इसलिए रखा गया है कि वे अपने आप में महिला सशक्तीकरण की सबसे बड़ी प्रतीक हैं। महिलाओं को सशक्त करने की दिशा में हमारी सरकार ने कई कदम उठाए हैं। ‘आई एम शक्ति‘ निधि उसी दिशा में एक अनूठी पहल है। ‘आई एम शक्ति‘ निधि के तहत संचालित योजनाओं के शुभारम्भ पर प्रदेशभर की महिलाओं को बधाई दी और कहा कि राज्य सरकार उनके सशक्तीकरण के लिए हर संभव कदम उठाएगी और योजना मेें जरूरत पड़ने पर फण्ड और बढ़ाया जा सकेगा।

  • मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने वर्ष 2019-20 के बजट में इसकी घोषणा की थी। 
  • इसके तहत सरकार ने प्रतिवर्ष 200 करोड़ रूपए यानी कुल पांच वर्ष के लिए एक हजार करोड़ रूपए का प्रावधान किया है। 
  • इसकी मंशा महिला स्वयं सहायता समूहों को और मजबूती प्रदान करने की है ताकि प्रदेश की आधी आबादी आत्मनिर्भर बन सके और आर्थिक रूप से सशक्त होकर सम्मान के साथ जीवनयापन कर सके। 
  • इस निधि के तहत संचालित योजनाओं के माध्यम से महिलाओं को उद्यम स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित करने, उनके कौशल विकास के साथ ही उन्हें आर्थिक रूप से मजबूती प्रदान करने का मार्ग प्रशस्त होगा।
  • इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना के माध्यम से महिलाओं अथवा महिला स्वयं सहायता समूहों को एक करोड़ रूपए तक के ऋण मिल सकेंगे। 
  • इंदिरा महिला शक्ति प्रशिक्षण एवं कौशल संवर्धन योजना के तहत 75 हजार महिलाओं एवं बालिकाओं को निःशुल्क कंप्यूटर प्रशिक्षण, 
  • इंदिरा महिला शक्ति लेखा प्रशिक्षण योजना के तहत 5,000 महिलाओं को लेखांकन का प्रशिक्षण जैसी गतिविधियों का संचालन भी होगा। 
  • इंदिरा महिला शक्ति शिक्षा सेतु योजना के तहत ड्रॉपआउट बालिकाओें और शिक्षा से वंचित रही महिलाओं को राजस्थान स्टेट ओपन स्कूल के माध्यम से पढ़ाई के लिए फीस का पुनर्भरण किया जाएगा। इसका लाभ 50 हजार बालिकाओं और महिलाओं को मिलेगा। 
  • इंदिरा महिला शक्ति कौशल सामर्थ्य योजना में भी 10 हजार महिलाओं को कौशल प्रशिक्षण दिया जाएगा।

रामस्वरूप किसान को राजस्थानी कहानी संग्रह ''बारीक बात'' एवं नंद किशोर आचार्य को उनकी काव्य कृति ‘छीलते हुए अपने को’ के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार

  • साहित्य अकादमी ने 23 भाषाओं में साहित्य अकादमी पुरस्कार 2019 पाने वाले लेखकों के नामों की घोषणा कर दी है। हिंदी भाषा में नंद किशोर आचार्य को उनकी काव्य कृति ‘छीलते हुए अपने को’ के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार 2019 से नवाजा जाएगा। 
  • नंदकिशोर आचार्य हिन्दी के सुप्रसिद्ध साहित्यकार हैं। इनका जन्म राजस्थान के बीकानेर में 31 अगस्त 1945 को हुआ था। तथागत (उपन्यास), अज्ञेय की काव्य तितीर्षा, रचना का सच और सर्जक का मन (आलोचना) देहांतर, गुलाम बादशाह और पागलघर (नाटक), जल है जहाँ, वह एक समुद्र था, शब्द भूले हुए, आती है मृत्यु, रेत राग (कविता संग्रह) उनकी प्रमुख रचनाएँ हैं। 
  • उन्हें राजस्थान साहित्य अकादमी के सर्वोच्च मीरा पुरस्कार, राज. संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार, डॉ. घासीराम वर्मा पुरस्कार, महाराणा कुम्भा पुरस्कार एवं भुवनेश्वर पुरस्कार आदि से भी सम्मानित किया जा चुका है।
  • अंग्रेजी भाषा के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद शशि थरूर को उनकी पुस्तक 'एन एरा ऑफ डार्कंनेस (An Era of Darkness)’ के लिए यह पुरस्कार दिया जाएगा। ये पुस्तक ब्रिटिश काल पर लिखी गई है।
  • राजस्थानी भाषा के लिए परलीका, हनुमानगढ के रामस्वरूप किसान को उनके राजस्थानी कहानी संग्रह ''बारीक बात'' के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार 2019 से नवाजा जाएगा।  किसान को पुरस्कार स्वरूप एक लाख रुपए की राशि, स्मृति चिन्ह व शॉल भेंट किए जाएंगे। किसान राजस्थानी में नई धारा के प्रमुख हस्ताक्षर माने जाते हैं।
  • 14 अगस्त 1952 को हनुमानगढ के गांव परलीका में जन्में रामस्वरूप किसान की अब तक एक दर्जन से अधिक पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं तथा वे कथा प्रधान राजस्थानी तिमाही 'कथेसर' के संपादक भी हैं। ‘

भारत ने जमीन से मार करने में सक्षम ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण किया-

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने 17 दिसम्बर को ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण किया। यह परीक्षण ओडिसा तट पर चांदीपुर एकीकृत परीक्षण रेंज से किया गया. इस परीक्षण में मिसाइल के जमीन (सतह) संस्करण का परीक्षण किया गया।
ब्रह्मोस मिसाईल-महत्वपूर्ण तथ्य-
  • ब्रह्मोस एक कम दूरी की सुपरसॉनिक क्रूज मिसाइल है।
  • ब्रम्‍होस का विकास भारत के रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) और रूस के एनपीओ के संयुक्‍त उद्यम ने किया है। 
  • ब्रह्मोस को भूमि, वायु, समुद्र और जल से दागा जा सकता है। 
  • 9 मीटर लंबी इस मिसाइल का वजन लगभग 3 टन है। 
  • यह दुनिया की सबसे तेज मिसाइल है। 
  • यह ध्‍वनि से 2.9 गुना तेज (करीब एक किलोमीटर प्रति सेकेंड) गति से 14 किलोमीटर की ऊँचाई तक जा सकता है। 
  • यह मिसाइल ठोस ईंधन से संचालित होती है।
  • इस मिसाइल की मारक क्षमता 290 किलोमीटर है जिसे अब 400 किलोमीटर तक बढ़ाया जा सकता है।
  • इसका पहला परीक्षण 12 जून 2001 को किया गया था।
  • इस मिसाइल का नाम दो नदियों को मिलाकर रखा गया है जिसमें भारत की ब्रह्मपुत्र और रूस की मोस्क्वा नदी शामिल है।
  • जमीन और नौवहन पोत से छोड़ी जा सकने बाली ब्रह्मोस सुपरसोनिक मिसाईल पहले ही भारतीय सेना और नौसेना में शामिल की जा चुकी है. इस सफल परीक्षण के बाद ये मिसाइल सेना के तीनों अंगों का हिस्सा बन जायेगी। 
  • ब्रह्मोस के महानिदेशक डॉक्‍टर सुधीर कुमार हैं।

दमन और दीव तथा दादरा और नागर हवेली अगले वर्ष 26 जनवरी से  होंगे एक केन्‍द्रशासित प्रदेश

  • गृह मंत्रालय ने घोषणा की है कि दो पृथक केन्‍द्रशासित प्रदेश दमन और दीव तथा दादरा और नागर हवेली अगले वर्ष 26 जनवरी से एक केन्‍द्रशासित प्रदेश बन जाएंगे। 
  • लोकसभा और राज्‍यसभा ने संसद के शीतकालीन सत्र में दादरा और नागर हवेली तथा दमन और दीव (केन्‍द्रशासित प्रदेशों का विलय) विधेयक, 2019 पारित किया था। 
  • गृह मंत्रालय की अधिसूचना के अनुसार, एकीकृत केन्‍द्रशासित प्रदेश का नाम दादरा और नागर हवेली तथा दमन और दीव होगा।
  • मुम्‍बई उच्‍च न्‍यायालय का विस्‍तार दादरा और नागर हवेली तथा दमन और दीव केन्‍द्रशासित प्रदेश तक बना रहेगा। 
  • वर्तमान में देश में जम्मू और कश्मीर और लद्दाख के केंद्रशासित प्रदेश बनने के बाद देश में कुल नौ केंद्रशासित प्रदेश हैं। दमन और दीव तथा दादरा और नागर हवेली के विलय के बाद इनकी संख्या घटकर आठ हो जाएगी।

पुर्तगाल शुरू करेगा गांधी नागरिकता शिक्षा पुरस्कार-

  • पुर्तगाल के प्रधानमंत्री अंतोनियो कोस्टा ने महात्मा गांधी के आदर्शों को शाश्वत बनाए रखने के लिए उनके विचारों और उद्धरणों से प्रेरित गांधी नागरिकता शिक्षा पुरस्कार आरंभ करने की घोषणा की है। 
  • यह पुरस्कार प्रत्येक वर्ष प्रदान किया जाएगा। 
  • पहले वर्ष का पुरस्कार पशु कल्याण के लिए समर्पित होगा। 
  • श्री कोस्टा कल नई दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में महात्मा गांधी के 150वीं जयंती समारोहों के राष्ट्रीय आयोजन समिति की दूसरी बैठक को संबोधित कर रहे थे।

पिनाक मिसाइलों का सफल प्रायोगिक परीक्षण-

  • भारत ने ओड़ीसा में चांदीपुर से दो पिनाक मिसाइलों का सफल प्रायोगिक परीक्षण किया।
  • पिनाका देश में तैयार मल्टी-बैरल रॉकेट लॉन्च (MBRL) प्रणाली है। 
  • पिनाक निर्देशित रॉकेट प्रणाली के उन्नत संस्करण का परीक्षण रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन के प्रूफ और प्रायोगिक स्थापना परीक्षण केंद्र से किया गया। 
  • सतह से हवा में मार करने वाली त्वरित कार्रवाई मिसाइल (क्यू आर - एस ए एम) एकीकृत परीक्षण केंद्र के प्रक्षेपण परिसर में मोबाइल लॉंचर से प्रक्षेपित की गई।
  • स्वदेश में विकसित पिनाक और सतह से हवा में मार करने वाली त्वरित कार्रवाई मिसाइल प्रणाली का परीक्षण निर्धारित लक्ष्य हासिल कर पूरी तरह सटीक साबित हुआ। 
  • ये परीक्षण अपने सभी उद्देश्यों में सफल रहे। 
  • पिनाक प्रणाली के मार्क-दो संस्करण की अधिकतम मारक क्षमता 75 किलोमीटर है और यह 45 सेकेंड से कम समय में ही इकट्ठे 12 रॉकेटों को निशाना बना सकती है। 
  • सतह से हवा में मार करने वाली त्वरित कार्रवाई प्रणाली भी दो वाहनों के साथ लगभग 25 से 30 किलोमीटर के दायरे में एक साथ कई निशाना लगा सकती है। 
  • यह दुश्मन की उन मिसाइलों को भी निशाना बनाने में कारगर साबित होगी जो नजदीक आकर अचानक गायब हो जाती हैं। 

वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के ग्लोबल जेंडर गैप इंडेक्स में भारत 112वें स्थान पर, आईसलैंड शीर्ष पर

  • वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (WEF) ने 17 दिसम्बर को ‘ग्लोबल जेंडर गैप इंडेक्स’ (Global Gender Gap Index) 2020 पर एक रिपोर्ट जारी किया। इस रिपोर्ट के अनुसार दुनिया भर के 153 देशों के बीच भारत को 112वां स्थान मिला है. पिछले वर्ष के रिपोर्ट में भारत 108वें स्थान पर था। 
  • इस रिपोर्ट के अनुसार आईसलैंड सबसे बेहतर देश है, जहां कोई लिंग आधारित भेदभाव नहीं है। आइसलैंड 11वीं बार पहले स्थान पर बना हुआ है। 
  • इसके बाद नार्वे, फिनलैंड, स्वीडेन व निकारगुआ हैं।  
  • यमन सबसे अंतिम 153वें स्थान पर, ईराक 152वें स्थान पर और पाकिस्तान 151वें स्थान पर है। 
  • इस रिपोर्ट में बांग्लादेश को 50वां स्थान मिला है और दक्षिण एशिया क्षेत्र में सबसे आगे है।
  • रिपोर्ट के इस वर्ष के संस्करण में 153 देश को शामिल किया गया था। 
  • रिपोर्ट के अनुसार, दक्षिण एशिया क्षेत्र अपने लिंग अंतर में दो-तिहाई के करीब है। अगर बीते 15 सालों की प्रगति की दर जारी रही तो लिंग अंतर को भरने में 71 साल लगेंगे।
  • ग्लोबल जेंडर गैप इंडेक्स रिपोर्ट वर्ष 2006 से जारी किया जा रहा है।
  • इस रिपोर्ट में चार प्रमुख आयामों- आर्थिक भागीदारी और अवसर, शैक्षिक उपलब्धि, स्वास्थ्य और जीवन रक्षा, और राजनीतिक सशक्तीकरण को लेकर लिंग आधारित अंतर की सीमा को मापा जाता है। 

राजस्थान पुलिस की महिला कॉस्टेबल श्रीमती ममता कुमारी ढाका को सैफ खेलों में स्वर्ण पदक

नेपाल के काठमांडू में आयोजित हो हुए13वें साउथ एशियन गेम्स (सैफ) खेलों में राजस्थान पुलिस की महिला कॉस्टेबल श्रीमती ममता कुमारी ढाका ने स्वर्ण पदक प्राप्त किया है। भारतीय महिला कबड्डी टीम ने फाइनल में नेपाल को 50-13 अंकों से हराकर स्वर्ण पदक प्राप्त किया। राजस्थान पुलिस के इतिहास में पहली बार सैफ खेलों में दो महिला खिलाड़ियों सुश्री शीतल तोमर ने कुश्ती तथा ममता कुमारी ने कबड्डी में स्वर्ण पदक प्राप्त किया। इससे राजस्थान पुलिस में खुशी की लहर है। राजस्थान पुलिस के मुख्य खेल अधिकारी एवं आर्म्स बटालियन के एडीजी श्री जंगा श्रीनिवास राव ने बताया कि श्रीमती ममता कुमारी वर्ष 2015 में जनरल ड्यूटी कॉस्टेबल के पद पर भर्ती हुई थी। राजस्थान पुलिस प्रशिक्षण केंद्र जोधपुर से बेसिक ट्रेनिंग करने के पश्चात टैलेंट सर्च स्कीम के तहत इस खिलाड़ी का चयन किया गया था। बेसिक ट्रेनिंग के पश्चात ये खिलाड़ी दिसंबर 2016 से पांचवी बटालियन आरएसी में संचालित अभ्यास शिविर में लगातार अभ्यास कर रही है। ममता सीकर जिले के गलोड़ा गांव की रहने वाली है तथा जयपुर पुलिस आयुक्तालय में पदस्थापित है।
श्री जंगा ने बताया की कड़ी मेहनत व संघर्ष के परिणाम स्वरूप ममता 3 वर्ष की अल्पावधि में भारतीय सीनियर महिला कबड्डी टीम में जगह बनाने में कामयाब हुई है। जबकि पांचवी बटालियन आरएसी में आने से पूर्व इसका कोई खेल बैकग्राउंड नहीं था। यह खिलाड़ी गत 3 वर्ष से राजस्थान पुलिस महिला कबड्डी टीम के साथ चौगान स्टेडियम जयपुर में अभ्यास कर रही है।

सेतुरमन पंचनाथन अमेरिका में प्रतिष्ठित नेशनल साइंस फाउंडेशन के निदेशक चुने गये

अमरीकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प ने भारतीय-अमरीकी कंप्यूटर वैज्ञानिक सेतुरमन पंचनाथन को प्रतिष्ठित नेशनल साइंस फाउंडेशन (NSF) का निदेशक चुना है। नेशनल साइंस फाउंडेशन-NSF एक अमरीकी सरकारी एजेंसी है जो विज्ञान और इंजीनियरिंग के सभी गैर-चिकित्सा क्षेत्रों में मौलिक अनुसंधान और शिक्षा में मदद करती है।

विद्याधर व्यास राष्ट्रीय तानसेन पुरस्कार से सम्मानित

  • प्रसिद्ध गायक पंडित विद्याधर व्यास को मध्‍य प्रदेश सरकार के राष्ट्रीय तानसेन पुरस्कार 2019 से सम्मानित किया गया। 
  • यह पुरस्कार प्रत्येक वर्ष भारतीय शास्त्रीय संगीत की जाने-माने हस्तियों को दिया जाता है। 
  • तानसेन पुरस्कार में दो लाख रुपये नकद और प्रशस्ति-पत्र दिया जाता है। 
  • मध्य प्रदेश में लोकप्रिय शास्त्रीय संगीत उत्सव ''तानसेन समारोह'' देश के सबसे पुराने और सम्मानित शास्त्रीय संगीत समारोहों में से एक है। 
  • इसका आयोजन मध्‍य प्रदेश के संस्कृति विभाग के अंतर्गत उस्ताद अलाउद्दीन खां कला एवं संगीत अकादमी द्वारा किया जाता है।
  • इस समारोह में देशभर के जाने माने संगीतकार और गायक हिस्सा लेते है।

भारत व नेपाल सेना के बीच संयुक्त युद्धाभ्यास ‘सूर्य किरण’ नेपाल के रूपदेही में हुआ आयोजित 

  • भारत एवं नेपाल की सेना के बीच संयुक्त सैन्य युद्धाभ्यास ‘सूर्य किरण’ का आयोजन नेपाल के रूपदेही जिले में 3 से 16 दिसम्बर तक किया गया। 
  • दोनों देशों की सेना के मध्य होने वाला ‘सूर्य किरण’ का 14वां संयुक्त सैन्य अभ्यास था। 
  • इस युद्धाभ्यास में दोनों देशों की सेना की 300-300 सैन्य कर्मियों की एक-एक टुकड़ी ने भाग  लिया। 
  • इस युद्धाभ्यास का आयोजन साल में दो बार बारी-बारी से दोनों देशों में होता है।
  • यह युद्धाभ्यास जंगल और पहाड़ी इलाकों में विद्रोह कार्रवाइयों से निपटने, विद्रोह के खिलाफ कार्रवाई, आतंकवाद विरोधी अभियान, प्राकृतिक और मानवजनित आपदाओं के दौरान की जाने वाली मानवीय सहायता के अपने-अपने अनुभवों पर आधारित था। 

स्वीडन ने भारत को हरा कर तीन देशों के अंडर-17 महिला फुटबॉल टूर्नामेंट जीता

स्वीडन ने तीन देशों के अंडर-17 महिला फुटबॉल टूर्नामेंट जीत लिया है। मुंबई में आयोजित फाइनल में स्वीडन ने भारत को चार-शून्य से हरा दिया। हाफ टाइम तक स्वीडन तीन-शून्य से आगे था। भारत ने अंतिम राउंड रॉबिन मैच में थाईलैंड को 1-0 से हरा कर फाइनल में प्रवेश किया था। टूर्नामेंट के पहले मैच में भी स्वीडन ने भारत को 3-0 से हराया था।

एसोचैम का शताब्दी वर्ष सम्मलेन नई दिल्ली में हुआ आयोजित

  • वाणिज्य और उद्योग मंडल (एसोचैम) अपनी स्थापना के सौ वर्ष पूरे कर रहा है। एसोचैम का शताब्दी वर्ष सम्मलेन 20 दिसम्बर को नई दिल्ली में आयोजित किया गया।
  • इस समारोह का विषय ‘नया भारत: पचास खरब डॉलर अर्थव्यवस्था की आकांक्षा’ था.
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस सम्मलेन में हिस्सा लिया। 
  • उन्होंने इस मौक़े पर एक स्मारक ड़ाक टिकट जारी किया।





राष्ट्रीय ब्रॉडबैंड मिशन की शुरु, 2022 तक सभी गांवों को ब्रॉडबैंड इन्टरनेट का लक्ष्य-

  • भारत सरकार ने 17 दिसम्बर को राष्ट्रीय ब्रॉडबैंड मिशन (NBM) की शुरुआत की। 
  • इसका उद्देश्य वर्ष 2022 तक सभी गांवों को ब्रॉडबैंड इन्टरनेट उपलब्ध कराना है। 
  • इस मिशन के अंतर्गत  देशभर, विशेषरूप से ग्रामीण और दूर-दराज के क्षेत्रों में सार्वभौमिक और समानता के आधार पर ब्रॉडबैंड पहुंच उपलब्ध कराई जाएगी।
  • इसके अंतर्गत  मोबाइल और इंटरनेट की सेवाओं की गुणवत्ता सुधारने का भी लक्ष्य है। 
  • इस मिशन के अंतर्गत  संबद्ध पक्ष आगामी वर्षों में 100 अरब डॉलर (सात लाख करोड़ रुपये) का निवेश करेंगे। इसमें 70,000 करोड़ रुपये यूनिवर्सल सर्विस आब्लिगेशन फंड (ISOF) से उपलब्ध कराया जाएगा।
  • इसके अंतर्गत  30 लाख किलोमीटर का अतिरिक्त आप्टिकल फाइबर केबल मार्ग बिछाया जाएगा। 
  • साथ ही 2024 तक देश में टावरों की संख्या मौजूदा 5.65 लाख से बढ़कर 10 लाख हो जाएगी और टावर का घनत्व 0.42 से बढ़ाकर 1.0 टावर प्रति हजार आबादी किया जाएगा। 
  • इस मिशन के अंतर्गत  टावरों का ‘फाइबराइजेशन’ बढ़कर 70 प्रतिशत तक हो जाएगा, जो अभी 30 प्रतिशत है।
  • इस मिशन के जरिये शिक्षा, स्वास्थ्य, उद्यमिता और विकास के क्षेत्र में प्रौद्योगिकी ढांचे को मजबूत किया जा सकेगा। 

राष्‍ट्रपति निलयम

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद 20 दिसम्बर को सिकंदराबाद के बोल्‍लारम में राष्‍ट्रपति निलयम पहुंचेंगे। राष्‍ट्रपति दक्षिण में अल्‍प प्रवास के लिए प्रतिवर्ष निलयम जाते हैं। इस दौरान राष्‍ट्रपति कार्यालय, राष्‍ट्रपति निलयम से ही संचालित होगा। 

सोमा रॉय बर्मन बनी भारत की नई लेखा महानियंत्रक-

  • 1986 बैच की भारतीय नागरिक लेखा सेवा (आईसीएएस)  अधिकारी श्रीमती सोमा रॉय बर्मन ने आज यहां नए के रूप में पदभार संभाला। 
  • श्रीमती बर्मन अकाउंट कंट्रोलर (सीजीए) के 24वीं लेखा महानियंत्रक हैं और इस सम्मानित पद को धारण करने वाली सातवीं महिला हैं।
  • भारत सरकार ने श्रीमती बर्मन को 1 दिसम्बर, 2019 से वित्त मंत्रालय के व्यय विभाग के लेखा महानियंत्रक (सीजीए) के रूप में नियुक्त किया।
  • श्रीमती बर्मन ने दिल्ली विश्वविद्यालय से गणितीय सांख्यिकी में एम.फिल किया है।
  • उन्होंने अपने 33 साल के लंबे करियर के दौरान, गृह मंत्रालय, सूचना और प्रसारण, उद्योग, वित्त, मानव संसाधन विकास और नौवहन, सड़क परिवहन और राजमार्ग जैसे मंत्रालयों में विभिन्न स्तरों पर कैडर पदों पर कार्य किया है। उन्होंने केंद्रीय पेंशन लेखा कार्यालय (सीपीएओ) के मुख्य नियंत्रक (पेंशन) और सरकारी लेखा और वित्त संस्थान (आईएनजीएएफ), नई दिल्ली में निदेशक के रूप में कार्य किया है।

मेघालय ने इनर लाइन परमिट प्रणाली लागू करने का अनुरोध किया

  • मेघालय विधानसभा ने एक प्रस्‍ताव पारित कर केन्‍द्र सरकार से पूरे राज्‍य में इनर लाइन परमिट (ILP) प्रणाली लागू करने का अनुरोध किया है। 
  • इस प्रणाली को बंगाल ईस्‍टर्न फ्रंटीयर रेग्‍युलेशन, 1873 के अंतर्गत लागू किया जाता है। 
  • इनर लाइन परमिट (ILP) भारत सरकार द्वारा जारी एक आधिकारिक यात्रा दस्तावेज है जो राज्य के बाहर से आने वाले भारतीय नागरिकों को राज्य में प्रवेश के लिए ये परमिट लेना अनिवार्य करता है। 

ऑस्‍ट्रेलिया के पैट कमिन्‍स आई.पी.एल. के सबसे महँगे खिलाड़ी -

इंडियन प्रीमियर लीग-आई.पी.एल. नीलामी में दो बार की चैम्पियन कोलकाता नाइट राइडर्स ने ऑस्‍ट्रेलिया के पैट कमिन्‍स को सबसे अधिक साढे पन्‍द्रह करोड़ रूपये में खरीद लिया है। ऑस्‍ट्रेलिया के ही ग्‍लेन मैक्‍सवेल को किंग्‍स इलेवन पंजाब ने दस करोड़ 75 लाख रूपये में खरीदा। 

श्री हरि मोहन बने ऑर्डनेंस फैक्टरी बोर्ड के नए अध्यक्ष-

सेवानिवृत हो चुके श्री सौरभ कुमार, की जगह 01 दिसंबर, 2019 से श्री हरि मोहन ने ऑर्डनेंस फैक्टरी बोर्ड (ओएफबी) के अध्यक्ष के रूप में पदभार संभाल लिया है। मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातकोत्तर उपाधि के साथ 1982 बैच के ऑर्डनेंस फैक्टरी बोर्ड सेवा (आई.ओ.एफ.एस) के अधिकारी श्री हरि मोहन मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक और मास्टर्स की डिग्री प्राप्त करने के दौरान इलाहाबाद विश्वविद्यालय और पुणे विश्वविद्यालय के टॉपर रहे रहे हैं। उन्होंने पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में एम. फिल की है।

राजस्थान कृषि प्रतिस्पर्धात्मक परियोजना-

  • राजस्थान कृषि प्रतिस्पर्धात्मक परियोजना (क्रेडिट न.ं 5085 -इन) विश्व बैंक की सहायता से राज्य में क्रियान्वित एवं संचालित की जा रही है।
  • परियोजना का विकास उद्देश्य ‘‘ राजस्थान के चयनित कलरूटर्स में कृषि उत्पादकता तथा कृषकों की आय में टिकाउ आधार पर बढोतरी करना है।
  • परियोजना का क्रियान्वयन राजस्थान के 8 कृषि जलवायुवीय खण्डों में चयनित कुल 17 कलेस्टर्स के लगभग 2,76,827 हैक्टर क्षेत्र में किया जा रहा है, इसमें लगभग 1,37,607 किसानों को लाभान्वित किया जाना है।
  • परियोजना की कुल लागत राशि रू.832.50 करोड़ थी जो आंशिक कटौति के बाद राशि रू.806.43  करोड़ हो गयी है। जिसमें परियोजना राशि रू.676.43 करोड तथा कृषकों की हिस्सा राशि रू.130 करोउ सम्मिलित है। परियोजना की पूर्व में समाप्ति तिथि 30 अप्रैल 2019 थी, जिसकों बढाकर  30 जून 2020 कर दिया गया हैैं।
  • राज्य सरकार ने रिस्ट्रक्चरिंग प्रस्तावों पर निर्णय लेकर भारत सरकार के माध्यम से दिनांक 13 अक्टूबर 2014 को विश्व बैंक भिजवायें गये। विश्व बैंक ने रिस्ट्रक्चरिंग प्रक्रिया दिनांक 28 जून 2016 को पूर्ण की। 
  • राजस्थान कृषि प्रतिस्पर्धात्मक परियोजना के तहत बकरी पालन कार्यशाला एवं टैबलेट वितरण कार्यक्रम में कृषि एवं पशुपालन मंत्री श्री लालचंद कटारिया ने पीसांगन महिला बकरी पालक प्रोड्यूसर कम्पनी लिमिटेड एफपीसी (कृषक उत्पादक कम्पनी ) की बकरी विपणन वेबसाइट एवं मोबाइल ऎप का उद्घाटन किया। 
  • उन्होंने बकरी विपणन वेबसाइट से व्यायसायिक संचालित करने हेतु महिलाओं को टेबलेट भी वितरित किए। 
  • इस अवसर पर एफपीसी एवं पशुपालन गतिविधियों के वीडियो वृत्तचित्र का विमोचन भी किया तथा  सफल किसानों की केस स्टडी बुकलेट का विमोचन भी किया।

'निरोगी राजस्थान’ अभियान

  • मुख्यमंत्री ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के मंत्रियों एवं अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक में ’निरोगी राजस्थान’ अभियान शुरू करने का निर्णय लिया था।
  • श्री गहलोत ने इस निर्णय के तीन दिन बाद ही शुक्रवार को प्रदेशभर में स्वास्थ्य जागरूकता के लिए राज्यव्यापी ’निरोगी राजस्थान’ अभियान के संचालन के लिए चार अलग-अलग समितियां गठित कर उनके कार्य का निर्धारण कर दिया है और विस्तृत दिशा-निर्देशों को स्वीकृति प्रदान कर दी है। राज्य सरकार की पहली वर्षगांठ के दौरान इस अभियान का शुभारम्भ किया जाएगा।
  • अभियान के संबंध में जारी निर्देशों के अनुसार, अभियान का समग्र मार्गदर्शन मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में गठित ’राजस्थान स्वास्थ्य मिशन’ द्वारा किया जाएगा। 
  • ’राजस्थान स्वास्थ्य मिशन’ इस अभियान की गवर्निंग बॉडी भी होगी। 
  • मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गठित ’एक्जयूकेटिव बॉडी’ (कार्यकारी समिति) अभियान का संचालन करेगी। इस समिति में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा, महिला एवं बाल विकास, शिक्षा तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा, जलदाय विभाग और सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हैं।
  • प्रभारी मंत्री के मार्गदर्शन और जिला कलक्टर की अध्यक्षता में जिलास्तरीय आयोजना और क्रियान्वयन समिति तथा उपखण्ड अधिकारी की अध्यक्षता में ब्लॉक स्तर की समितियां इस अभियान को क्रियान्वित करेगी।
  • चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग इस अभियान का नोडल विभाग होगा। 
  • अभियान के दौरान जनसंख्या नियंत्रण, महिला स्वास्थ्य, किशोरावस्था स्वास्थ्य, व्यसन रोग, प्रदूषण, खाद्य पदार्थों में मिलावट आदि पर फोकस किया जाएगा। 
  • साथ ही, लोगों को मौसमी बीमारियाें (संचारी रोग) और जीवनशैली संबंधी बीमारियाेंं (गैर संचारी रोग) से बचाव और निदान के बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी तथा बच्चों के सम्पूर्ण टीकाकरण, वयस्क टीकाकरण, वृद्धावस्था में स्वास्थ्य की देखभाल (जेरियेट्रिक केयर) आदि के बारे में भी जागरूक किया जाएगा।

श्री महेश चन्द्र शर्मा ने मानव अधिकार आयोग के कार्यकारी अध्यक्ष -

राज्यपाल ने मानवाधिकार आयोग के सदस्य श्री महेश चन्द्र शर्मा को आयोग का कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया है। श्री महेश चन्द्र शर्मा ने गुरूवार 6 दिसम्बर को आयोग के कार्यकारी अध्यक्ष के पद का पदभार ग्रहण कर लिया है।
 

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Your comments are precious. Please give your suggestion for betterment of this blog. Thank you so much for visiting here and express feelings
आपकी टिप्पणियाँ बहुमूल्य हैं, कृपया अपने सुझाव अवश्य दें.. यहां पधारने तथा भाव प्रकट करने का बहुत बहुत आभार

स्वागतं आपका.... Welcome here.

राजस्थान के प्रामाणिक ज्ञान की एकमात्र वेब पत्रिका पर आपका स्वागत है।
"राजस्थान की कला, संस्कृति, इतिहास, भूगोल और समसामयिक दृश्यों के विविध रंगों से युक्त प्रामाणिक एवं मूलभूत जानकारियों की एकमात्र वेब पत्रिका"

"विद्यार्थियों के उपयोग हेतु राजस्थान से संबंधित प्रामाणिक तथ्यों को हिंदी माध्यम से देने के लिए किया गया यह प्रथम विनम्र प्रयास है।"

राजस्थान सम्बन्धी प्रामाणिक ज्ञान को साझा करने के इस प्रयास को आप सब पाठकों का पूरा समर्थन प्राप्त हो रहा है। कृपया आगे भी सहयोग देते रहे। आपके सुझावों का हार्दिक स्वागत है। कृपया प्रतिक्रिया अवश्य दें। धन्यवाद।

विषय सूची

Rajasthan GK (432) राजस्थान सामान्य ज्ञान (373) Current Affairs (254) GK (240) सामान्य ज्ञान (157) राजस्थान समसामयिक घटनाचक्र (129) Quiz (126) राजस्थान की योजनाएँ (106) समसामयिक घटनाचक्र (103) Rajasthan History (90) योजनाएँ (85) राजस्थान का इतिहास (52) समसामयिकी (52) General Knowledge (45) विज्ञान क्विज (40) सामान्य विज्ञान (34) Geography of Rajasthan (32) राजस्थान का भूगोल (30) Agriculture in Rajasthan (25) राजस्थान में कृषि (25) राजस्थान के मेले (24) राजस्थान की कला (22) राजस्थान के अनुसन्धान केंद्र (21) Art and Culture (20) योजना (20) राजस्थान के मंदिर (20) Daily Quiz (19) राजस्थान के संस्थान (19) राजस्थान के किले (18) Forts of Rajasthan (17) राजस्थान के तीर्थ स्थल (17) राजस्थान के प्राचीन मंदिर (17) राजस्थान के दर्शनीय स्थल (16) राजस्थानी साहित्य (16) अनुसंधान केन्द्र (15) राजस्थान के लोक नाट्य (15) राजस्थानी भाषा (13) Minerals of Rajasthan (12) राजस्थान के हस्तशिल्प (12) राजस्थान के प्रमुख पर्व एवं उत्सव (10) राजस्थान की जनजातियां (9) राजस्थान के लोक वाद्य (9) राजस्थान में कृषि योजनाएँ (9) राजस्थान में पशुधन (9) राजस्थान की चित्रकला (8) राजस्थान के कलाकार (8) राजस्थान के खिलाड़ी (8) राजस्थान के लोक नृत्य (8) forest of Rajasthan (7) राजस्थान के उद्योग (7) राजस्थान सरकार मंत्रिमंडल (7) वन एवं पर्यावरण (7) शिक्षा जगत (7) राजस्थान साहित्य अकादमी पुरस्कार (6) राजस्थान की झीलें (5) राजस्थान की नदियाँ (5) राजस्थान की स्थापत्य कला (5) राजस्थान के ऐतिहासिक स्थल (5) Livestock in Rajasthan (4) इतिहास जानने के स्रोत (4) राजस्थान की जनसंख्या (4) राजस्थान की जल धरोहरों की झलक (4) राजस्थान के संग्रहालय (4) राजस्थान में जनपद (4) राजस्थान में प्रजामण्डल आन्दोलन (4) राजस्थान रत्न पुरस्कार (4) राजस्थान सरकार के उपक्रम (4) राजस्थान साहित्य अकादमी (4) राजस्थानी साहित्य की प्रमुख रचनाएं (4) विश्व धरोहर स्थल (4) DAMS AND TANKS OF RAJASTHAN (3) Handicrafts of Rajasthan (3) राजस्थान की वन सम्पदा (3) राजस्थान की वेशभूषा (3) राजस्थान की सिंचाई परियोजनाएँ (3) राजस्थान के आभूषण (3) राजस्थान के जिले (3) राजस्थान के महोत्सव (3) राजस्थान के राज्यपाल (3) राजस्थान के रीति-रिवाज (3) राजस्थान के लोक संत (3) राजस्थान के लोक सभा सदस्य (3) राजस्थान में परम्परागत जल प्रबन्धन (3) Jewelry of Rajasthan (2) पुरस्कार (2) राजस्थान का एकीकरण (2) राजस्थान की उपयोगी घासें (2) राजस्थान की मीनाकारी (2) राजस्थान के अधात्विक खनिज (2) राजस्थान के अनुसूचित क्षेत्र (2) राजस्थान के जैन तीर्थ (2) राजस्थान के प्रमुख शिलालेख (2) राजस्थान के महल (2) राजस्थान के लोकगीत (2) राजस्थान बजट 2011-12 (2) राजस्थान मदरसा बोर्ड (2) राजस्थान में गौ-वंश (2) राजस्थान में पंचायतीराज (2) राजस्थान में प्राचीन सभ्यताएँ (2) राजस्थान में मत्स्य पालन (2) राजस्‍व मण्‍डल राजस्‍थान (2) राजस्थान का खजुराहो जगत का अंबिका मंदिर (1) राजस्थान का मीणा जनजाति आन्दोलन (1) राजस्थान की स्थिति एवं विस्तार (1) राजस्थान के कला एवं संगीत संस्थान (1) राजस्थान के चित्र संग्रहालय (1) राजस्थान के तारागढ़ किले (1) राजस्थान के धरातलीय प्रदेश (1) राजस्थान के धात्विक खनिज (1) राजस्थान के विधानसभाध्यक्ष (1) राजस्थान के संभाग (1) राजस्थान के सूर्य मंदिर (1) राजस्थान दिव्यांगजन नियम 2011 (1) राजस्थान निवेश संवर्धन ब्यूरो (1) राजस्थान बार काउंसिल (1) राजस्थान में चीनी उद्योग (1) राजस्थान में प्रथम (1) राजस्थान में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग द्वारा संरक्षित स्मारक (1) राजस्थान में यौधेय गण (1) राजस्थान में वर्षा (1) राजस्थान में सडक (1) राजस्थान राज्य गैस लिमिटेड (1) राजस्थान राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग (1) राजस्थान राज्य सड़क विकास एवं निर्माण निगम (1) राजस्थान सुनवाई का अधिकार (1) राजस्थानी की प्रमुख बोलियां (1) राजस्थानी भाषा का वार्ता साहित्य (1) राजस्थानी साहित्य का काल विभाजन- (1) राजस्‍थान राज्‍य मानव अधिकार आयोग (1) राज्य महिला आयोग (1) राष्ट्रीय अश्व अनुसंधान केन्द्र बीकानेर (1) सिन्धु घाटी की सभ्यता (1)
All rights reserve to Shriji Info Service.. Powered by Blogger.

Disclaimer:

This Blog is purely informatory in nature and does not take responsibility for errors or content posted in this blog. If you found anything inappropriate or illegal, Please tell administrator. That Post would be deleted.